कलाओंके आधारपर कीए जानेवाले बिजनेस

|

कला यानी किसी कार्य को अच्छी तरह से करने का हुनर। स्वयं के अंदर भरी कलाएँ यदी अन्यजनोंके लिए लाभप्रद साबीत हो तो वे कलाऐ स्वयंके लिएभी लाभदायक हो सकती है। किसी कलासे संपन्न व्यक्तीकी अपनीही एक अलग विशेषता होती है। लगभग सभी लोगोंमें कोई ना कोई कला होती है। परंतु कुछ प्रचलित कलाऐ है जीनके जरिए धनार्जन कीया जा सकता है। और वे कलाएँ कुछ इसप्रकार है :

1. संगीतकला – मधुरतासे गीत गाने की कला अर्थात संगीतकला। वर्तमान युगमें अनेक लोग है जो संगीत का ज्ञान प्राप्त करना चाहते है खासकर कई शिक्षण-कालके विद्यार्थी संगीत सिखनाभी आवश्यक समझते है ऐसेमें यदी उन्हे एक अच्छा संगीतज्ञ अर्थात संगीतकलामें निपुण संगीतविद्याका ज्ञाता मील जाए तो उससे संगीत सिखना अवश्य पसंद करते है। संगीतकलामें गानविद्या यानी गीत गाने की कला अत्यावश्यक होती है। इस कलाके जरिए गवैये(गीतक) के तौरपर प्रशिक्षण देकर धनप्राप्ती की जा सकती है। आप यातो ऑफलाइन या ऑनलाइन संगीतके क्लासेस लेकर आसानीसे धनार्जन कर सकते है। स्कूलोंमेंभी संगीत सिखानेहेतु संगीत शिक्षकोंकी जरुरत पडती है अत: वहाँभी अपनी कला के आधारपर पैसे कमानेके सुअवसर है बस अपनी इस गानविद्या मतलब संगीतविद्याके बारेमें अधिकाधिक लोगोंको सुचित कीया जाना चाहीए ताकी धनार्जन करनेके अवसर बढे।

images 8

AAA 0331

images 9

2. नृत्यकला – नृत्यकला मतलब नृत्य करने की कला एक अर्थसे ताल और लय पर नाचने का ढंग। नृत्यकला के आधारपरभी अच्छा-खासा धनार्जन कीया जा सकता है। कई ऐसे बच्चे एवं युवजन है जो नृत्य करने की कला को सिखना चाहते है अत: जो नृत्यकलासंपन्न है वे अपनी इस कला के जरिए निश्चित रुपसे धनार्जन कर सकते है। यदी नृत्य सिखनेहेतु इच्छुकजनोंको इकट्ठा करके उनके डांसींग क्लासेस लीए जाए तो इससे अच्छे-खासे पैसेभी कमाए जा सकते है।

images 4
images 3

images 2

3. पाककला – पाककला यानी भिन्न-भिन्न प्रकार के व्यंजन बनाने की कला। आजकल अनेक लोग खासकर गृहिणीयाँ एवं सूपकार(बावरची) इस कलाके जरिए युट्युब च्यानल खोलकर और उसमें नयेनये व्यंजनोंके विडीओस अपलोडकर ऑनलाइनभी धनार्जन कर रहे है। परंतु यदी आपके पास एक पर्याप्त जगह एवं उपकरणोंसेसंपन्न पाकशाला यानी रसोईगृह है तो आप व्यावहारिक रूप मेंभी नवोदित एवं प्रचलित व्यंजन बनाना सिखा सकते है और उससे पैसेभी कमा सकते है।

images 6

images 5

images 7

 

4. चित्रकला – पेंटिंग(चित्रकला) यानी चित्र बनाने की कला। इस कला के जरिए आजकल बहुत सारे लोग खासकर स्कूलोंमें पढ रहे छात्र चित्रकारीमें दिलचस्पी रखते है और ऐसे लोग अकसर किसी अच्छे चित्रकारकी तलाशमेंभी रहते है जो उन्हे चित्र बनाना सिखाए। अत: यदी आप चित्रकला से संपन्न है तो आप इस कला के ऑफलाईन जरिए पेंटिंग क्लासेस चलाकर पैसे कमा सकते है साथ ही आप ऑनलाईनभी चित्रकारी सिखाकर धनार्जन कर सकते है।

images 10

IMG 20210409 220019 1

images 11

5. वादनकला – वाद्ययंत्रोंको बजाने की कला यानी वादनकला। वादक अर्थात वाद्ययंत्रको बजानेवाले वर्तमान युग में पियानो , वायलिन , तबला , सारंगी, बाँंसुरी , सैक्सोफ़ोन , क्लैरीनेट , गीटार , बैन्जो जैसे अपनी-अपनी पसंदके वाद्यको बजानेके क्लासेस लेकर अच्छे-खासे पैसे कमा रहे है। यह कला के जरिए घरसेही क्लासेस लेकर पैसे कमाना बहुत आसान एवं सुविधाजनक है।

aa l l 1606587502

images 1

images

इन सभी कलाओंद्वारा धनार्जन करनेके तरीकेमें क्लासेस खोलकर एक प्रकारसे अपना खूदका बिजनेस करते रहना अधिक फायदेमंद है। इन कलाओंके जरिए धनार्जन करना बहुत सरल है क्योंकी इनमें बस जो ज्ञान एवं विशेषताऐ स्वयंमें होती है उन्हीका अध्यापन करना पडता है। अत: धनार्जन करनेहेतु यह तदबीरे लाभप्रद अवश्य साबीत होती है। अच्छी बात तो यह है की किसी कला का ज्ञान प्राप्त करना जीतना कठिन है उसके मुकाबले स्वयंमें भरी कलाको सिखाना उतना कठिनभी नही। तो इस कारण यह धनार्जन की आसान तदबीरे है।

Leave a Comment

close