शंघर्षों से भरा है Chetan Sakariya का जीवन {Chetan Sakariya Biography}

|

आपका स्वागत है हमारी website में हम उम्मीद करते है की आप यहाँ से  इनफार्मेशन अच्छी तरह से पढ़ ले. दोस्तों ,  हम आपको हिंदी में ऐसी तरह से सब celebrity की Biography की information देते रहेंगे।  अगर आप को English में सब कुछ इनफार्मेशन चाहिए तो आप https://oyclass.com/ पे आप को सब माहिती मिल जाएगी। नमस्कार दोस्तों आज हम जानेगे गुजरात के इंडियन क्रिकेटर चेतन सकारिया के बारे में के वो कौन है , कहा से आया है और उसका जीवन परिचय क्या है उसको किन किन मुसकेली का सामना करना पड़ा सब कुछ इस पोस्ट में आप को बताते है !

अनुक्रम

कौन है Chetan Sakariya

Chetan Sakariya इंडियन क्रिकेट टीम का ही हिस्सा है लेकिन अभी तक उन्हें बहुत कम लोग ही जानते है। आपने अभी तक बहुत सी कहानियां सुनी, पढ़ी होंगे जिसमे काफी संघर्ष रहता है। जहां एक ओर कई लोग इस संघर्ष से हार मान जाते है तो कई लोग कोयले की खदान से हीरा भी ढूंढ निकालते कुछ इन्हीं लोगो में से एक है Chetan Sakariya आपको बता दें कि, इनका अभी तक का पूरा जीवन कठिनाइयों और संघर्षों से भरा हुआ है। एक लोवर मिडिल क्लास फैमिली के सपने भले ही बड़े-बड़े होते हो लेकिन दुनिया और पैसा उन्हें अपने सपने से दूर कर देता है।

लेकिन वहीं दूसरी और थे Chetan Sakariya जो एक मध्यवर्गीय गरीब से आते थे। उनका जन्म एक ऐसे घर में हुआ जहां उनके पूरे परिवार को गरीबी की मार हर दिन, हर पल पड़ती थी। लेकिन Chetan ने कभी भी इस मार को अपने ऊपर हावी नहीं होने दिया उन्होंने जी तोड़ मेहनत की और क्रिकेट की दुनिया में अपना नाम रौशन किया। Chetan ने अपने संघर्ष को ही अपनी ताकत बनाई और क्रिकेट प्रेमियों के दिलों में अपनी जगह बना ली। आपको बता दें कि, Chetan Sakariya ने अपने सपने को साकार करते हुए पहली बार आईपीएल 2021 में अपनी जगह बना ली है। जी हां, उन्हें IPL team Rajsthan Royals के लिए चुन लिया गया है।

परिचय और पढाई

Chetan Sakariya का जन्म 28 फ़रवरी 1998 को गुजरात के शहर भावनगर में हुआ था। इनके पिता का नाम कांजी भाई है जो पेशे से एक ऑटो चालक है। इनकी माता का नाम वर्षाबेन है जो घर की काम संभालती थी। उनके इस छोटे से परिवार में उनकी छोटी बहन भी है जिसका नाम जिग्नासा है। वहीं एक लोवर मिडिल क्लास में जन्मे Chetan Sakariya की घर की आर्थिक स्थिति काफी ख़राब थी। घर में आमदनी का जरिया भी इतना अच्छा नहीं था कि घर खर्च के साथ-साथ Chetan की पढाई में पैसा लगा सके।

घर की आर्थिक स्थिति ख़राब होने की वजह से उन्हें एक सरकारी स्कूल में दाखिल किया गया। उन्होंने अपनी प्रारंभिक और माध्यमिक शिक्षा पास के ही एक सरकारी स्कूल से की है। Chetan Sakariya पढाई में तो अव्वल थे ही साथ में उनका क्रिकेट में भी बहुत मन लगता था। बचपन से ही उनका पढाई के साथ-साथ क्रिकेट खेलना में भी बहुत मन लगता था। तभी ही Chetan Sakariya का सपना क्रिकेट बनने का तय हो गया था लेकिन यह सपना अभी बहुत दूर था और संघर्ष की घड़ियां अभी और परीक्षा लेने वाली थी।

पिता थे क्रिकेट के खिलाफ

गौरतलब है कि पिता अपने बच्चे की Back Bone होते है अगर ले ही साथ न दे तो हम टूट जाते है। वहीं Chetan Sakariya के पिता कांजी भाई नही चाहते थे कि Chetan क्रिकेट खेले। दरअसल, उनका मानना था कि क्रिकेट सिर्फ अमीर घरों के लड़के ही खेलते है और उसमें अच्छा प्रदर्शन करते है। आपको बता दें कि, एक समय ऐसा भी था जब Chetan Sakariya के घर में टीवी नही थी, वह दूसरों के घर टीवी देखने जाते थें। वहीं Chetan टीवी पर भी क्रिकेट देखना ही पसंद करते थे।

करियर की शुरुआत

अपनी शुरूआती पढ़ाई के दौरान ही Chetan समय निकालकर क्रिकेट खेलने की तैयारी भी करते थें। साथ ही अपने पिता के कहने पर और घर की आर्थिक स्थिति में सुधार लाने के लिए वह अपने चाचा की दुकान पर काम भी करते थें, जिसके बदले उन्हें पैसे मिलते थें। इनके चाचा काफी नेक इन्सान थें जो Chetan का क्रिकेट के प्रति प्यार समझते थे। जिसके चलते उनके चाचा ने इनका पास के ही एक क्रिकेट एकेडेमी में Chetan का नामांकन करवा दिया। जहाँ वह ढेर सारी मेहनत और परिश्रम कर सबके नज़र में आ गयें उसके बाद वहाँ के बड़े क्रिकेटर ने उन्हें रणजी मल्टीडेज में शामिल होकर खेलने का सुझाव दिया। फिर यहाँ से उनके सपनो का सफर शुरू हो गया था।

Chetan Sakariya

धीरे-धीरे Chetan की जिंदगी से मुसीबतो के घने बदल छटते गए और वो बुलंदियों की उचाईयों को पाने में सफल होते रहे। उन्होंने अपने घरेलु राज्यस्तरीय टीम के साथ कई मैच खेले, जिसमें इन्हें एक तेज गेंदबाज के रूप में अपनी पहचान कायम की। यही से अपने राज्य से बाहर आकर दूसरों राज्यों के टीमों के साथ क्रिकेट मैच को खेलने लगे, जहाँ उन्हें कई बार अवार्ड से सम्मानित भी किया गया।

T-20 में रखा कदम

करियर के इस सफर में Chetan ने सौराष्ट्र की टीम के साथ खेलते हुए फ़रवरी 2018 को विजय हज़ारे ट्रॉफी में अपना पहला मैच खेला। इसके बाद नवंबर 2018 में रणजी ट्रॉफी खेल कर इन्होने अपना फर्स्ट क्लास डेब्यू किया। साथ ही अपने पहले ही मैच की पहेली इन्निंग्स में विरोधी टीम के 5 विकेट्स चटकाए। इन्होने सौराष्ट्र की टीम से ही T-20 में 2019 को कदम रखा।

IPL 2021 की 14वें सीजन की नीलामी

Chetan की किस्मत का ताला यहां से पूरी तरह खुल चुका है। जब IPL 2021 की 14वें सीजन की नीलामी हो रही थी तो राजस्थान रॉयल्स ने इनकी बोली 1 करोड़ 20 लाख में लगाई और इन्हें अपने टीम में शामिल कर लिया। Chetan के लिए उनका यह अचीवमेंट बहुत बड़ा था और उनको इस बात की बहुत ज्यादा ख़ुशी भी है। वहीं यह खुशखबरी उन्होंने सबसे पहले अपने माता-पिता को दी और अपनी ख़ुशी को उनके साथ बाँटा। यह आईपीएल 2021 में अपना पहला मैच 12 अप्रैल 2021 को पंजाब किंग्स के खिलाफ खेलें।

पंजाब किंग्स के खिलाफ अपनी पहली IPL Match में यह 4 ओवर्स में मात्र 7.8 की इकॉनमी से 31 रन्स ही दिए। इसके साथ यह पंजाब किंग के 3 महत्वपूर्ण खिलाड़ी KL Rahul, Jhye Richardson और Mayank Agrawal का विकेट्स लेकर इसे अपने नाम कर लिए। इसके अलावा यह चेन्नई सुपर किंग्स और दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ भी इसी आईपीएल में अपना बेहतरीन प्रदर्शन दिया।

Salden Jackson Cricketer ने दी चुनौती

आपको बता दें कि, जब Chetan सौराष्ट्र के लिए खेल रहें थें वो समय ऐसा था जब उनके पास नए जूते खरीदने के लिए भी पैसे नहीं थी। उस वक्त Salden Jackson Cricketer ने इनको चुनौती दी कि अगर तुम मुझे आउट कर दोगे, तब मैं तुम्हे अपना एक महँगा जूता इनाम के रूप में हमेशा के लिए दे दूँगा। बस फिर Chetan ने अपना कमाल दिखाया और ऐसी गेंदबाजी की कि, उसके छक्के छूट गए। Chetan ने कुछ ही गेंदों में उस विदेशी क्रिकेटर को आउट कर दिया, जिसके बदले उनको इनाम के रूप में महंगे जूते इनाम में मिले।

इंग्लिश version available : Chetan Sakariya BioGraphy

 

 

Leave a Comment