भगोड़ा घोषित Mehul Choksi का जीवन परिचय

|

ये भी पढ़े

Manoj Bajpayee का जमीन से लेकर आसमान तक का सफर

कौन है Mehul Choksi

आज मीडिया से लेकर सोशल मीडिया तक एक नाम बहुत ज्यादा चर्चाओं में है, वो नाम है Mehul Choksi देश के अब तक के सबसे बड़े बैंक घोटाले में से एक, पंजाब नेशनल बैंक जालसाजी के केस में 2 जो नाम उभरकर सामने आए हैं। यह नाम है Neerav Modi और Mehul Choksi आपको बता दें कि, इन दोनों के बीच मामा-भांजे का रिश्ता हैं।

Mehul Choksi, Neerav Modi के मामा है। वहीं इस घोटाले के बाद से ही दोनों फरार चल रहे थे। दोनों की तलाश की जा रही थी और इनसे सम्बन्धित सभी जगहों पर छापे डाले जा रहे थे। जिसके बाद अब दोनों की खबर मिल गई है दोनों इस वक्त कहा है? यह जानने के लिए आपको इस पोस्ट को पूरा पढ़ना होगा।

Mehul-Neerav
Mehul-Neerav

आपको बता दें कि, इन पर पंजाब नेशनल बैंक में 13000 करोड़ रूपए के घोटाले का आरोप है, मेहुल गीतांजलि जेम्स के मैनेजिंग डायरेक्टर है। पंजाब नेशनल बैंक द्वारा 2 एफआईआर लिखवाने के कारण प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने भी इनके खिलाफ केस लगाया है। आज हम बात करेंगे भगोड़े Mehul Choksi की, उसके कारोबार की, उसके द्वारा किए गए घोटाले की और मेहुल-नीरव इस वक्त कहा है इस बात की। तो चलिए शुरू करते है:

परिचय

Mehul Choksi का जन्म 5 मई 1960 को गुजरात के व्यापारी चिनुभाई चौकसी के घर में हुआ था। आपको बता दें कि, Mehul जैन समुदाय से ताल्लुक रखता है। Mehul की पत्नी का नाम प्रीति चौकसी है दोनों के 3 बच्चे है जिनमे 1 का नाम राहुल है और बाकि 2 बेटियां है जिनमे एक का नाम प्रियंका है। Mehul ने गुजरात के पालमपुर के जी.डी मोदी कॉलेज से पढाई की, फिर मुंबई यूनिवर्सिटी से पढाई को बीच में छोडकर अपने पिताजी के बिजनेस से बिजनेस सीखना शुरू किया।

अवार्ड

बहुत कम समय में ही Mehul ने अपने कारोबार को बड़ा कर लिया था। जिसके चलते Mehul ने कुछ बॉलीवुड की सेलिब्रिटी जैसे Katrina Kaif, Aishwarya Rai Bachchan जैसे बड़े नामों ने इसके लिए एडवरटाइजिंग की। साथ ही साल 2011 में मेहुल ने नई दिल्ली के एशिया पसिफ़िक एंटरप्रेन्युरशिप (Pacific Entrepreneurship) में अवार्ड भी जीता था।

करियर

Mehul Choksi ने अपने पिता के साथ कारोबार में हाथ बताना शुरु किया इस कारोबार को साल 1960 में शुरू किया था। जिसके 26 साल बाद 1986 में Mehul ने गीतांजलि जेम्स लांच किया, जो कि थोड़े समय में ही रफ़ और पॉलिश हीरे और जवाहरात को एक्सपोर्ट करने वाली देश की सबसे बड़ी कंपनियों में शामिल हो गई।

वहीं 90 के दशक की शुरुआत में मोदी में गहनों के व्यापार में रिटेल की सम्भावना को समझा,और गीतांजली ने 1994 में अपना ज्वैलरी ब्रांड “गिली” लांच किया। इसके मार्जिन्स ज्यादा थे और चौकसी के ब्रांड को मैनेजमेंट गुरु और बॉलीवुड की सेलिब्रिटी की मदद से आगे ले जाया गया,इसके बाद तो अगले दशक तक गीतांजलि ने अपना व्यापार देश-विदेश तक फैला लिया था।

विवाद की शुरुआत

आपको बता दें कि, Mehul इससे पहले भी विवाद का हिस्सा तब बने थे जब गीतांजली के पूर्व डायरेक्टर संतोष श्रीवास्तव और अन्य फ्रैंचाइज़ी होल्डर ने कहा था कि Mehul द्वारा बेचे गए ज्यादातर डायमंड अपनी सेलिंग प्राइस के मुकाबले ख़राब गुणवत्ता के साथ लैब में बनाए गए हैं।

बैंक घोटाला

ED का कहना है कि, “मोदी और चौकसी, दोनों को मनी लांड्री एक्ट के तहत समन दिया गया,और एक सप्ताह के भीतर पैसा लौटाने को कहा गया हैं। दोनों के देश में ना होने की स्थिति में इनकी फर्म को नोटिस भेजा गया है।” आपको बता दें कि, ED ने अब तक Neerav-Mehul के कई शोरूम्स, वर्कशॉप, ऑफिस और घर पर छापा मारकर लगभग 5100 करोड़ तक के हीरे, गहने और सोना एकत्रित किये है।

ED ने कहा कि, देश छोड़ने से पहले Neerav-Mehul दोनों ने अपने कंपनी डायरेक्टर्स, परिवार के सदस्यों को रत्न और आभुषण को छुपाकर रखने को कहा था क्योंकि उन्हें यह डर था कि जांच एजेंसियां इन जगहों पर छापे मारकर अपनी राशि को वापिस लेने का प्रयास करेगी। साथ ही ED ने अभी तक 11 शहरों में 45 जगहों जैसे बैंगलोर, दिल्ली, अहमदाबाद, चंडीगढ़, कोलकाता, पटना, लखनऊ, मुंबई, चेन्नई, हैदराबाद और गुवाहटी शामिल है, पर छापे मारे हैं।

कर्ज माफ

आपको बता दें कि, पिछले साल अप्रैल महीने में RBI ने Mehul का कर्ज माफ़ किया था। इसकी रिपोर्ट RTI ने RBI से मांगी थी। जिसके जवाब में RBI ने कहा कि 68,607 करोड़ रूपये का कर्ज 30 सितंबर 2019 तक का माफ़ किया गया था। इसमें कई कारोबारी सम्मिलित हैं जिसमें टॉप पर मेहुल चौकसी का नाम हैं, जिस पर 5,492 करोड़ रूपये का कर्ज था।

लेटेस्ट अपडेट

दरअसल, Mehul भारत से फरार हो कर एंटीगुआ पहुंच गया था और वहां उसने एंटीगुआ की नागरिकता भी हासिल कर ली थी। भारत की कई एजेंसियां और अधिकारी डोमिनिका प्रशासन के संपर्क में है। अगर इंटरपोल के नोटिस के आधार पर बात करें तो Mehul Choksi की भारत वापसी पक्की है। क्योंकि मौजूदा वक्त में Mehul Choksi अभी एंटीगुआ का नागरिक है, लेकिन उसने अपनी भारतीय नागरिकता कभी छोड़ी ही नहीं, ऐसे में वह भारत का नागरिक भी सिद्ध होगा।

हाल ही में मेहुल चौकसी की कुछ फोटोज सामने आई थी जिसमे उसकी एक आंख में नील निशान थे और आंखे फूली हुई थी। इसके साथ ही हाथ में भी गेहरे नील निशान थे।

Mehul Choksi
Mehul Choksi

Mehul Choksi के फरार होने के बाद एंटीगा और बारबूडा के प्रधानमंत्री गेस्टॉन ब्राउनी ने कहा कि, उन्होंने डॉमिनिका को हीरा कारोबारी को सीधे भारत को सौंपने को कहा है। आपको बता दें कि, 13578 करोड़ के पीएनबी घोटाले के आरोपी चोकसी को भारत लाने के लिए सीबीआई और ईडी की टीम की डॉमिनिका पहुंची हैं। ये दोनों ही टीमें इन सुनवाई के दौरान कोर्टरूम में मौजूद हैं। बताया जा रहा है कि चोकसी इस सुनवाई में वीडियो कॉल के माध्यम से शरीक हो रहा है।

विशेष तथ्य

आशा करती हु कि, आप सभी अपने घरों में Safe होंगे और आपको हमारी यह पोस्ट पसंद आई होगी। Mehul Choksi के बारे में तमाम जानकारी आपको मिल गई होगी अगर आप हमसे कुछ भी पूछना चाहते है तो आप Comment के जरिए पूछ सकते है। आपको जल्द ही उसका Reply मिलेगा। ऐसी ही पोस्ट के लिए help2hindi के और पोस्ट पढ़े।

 

नमस्कार दोस्तों, मैं Akanksha Jain Help2Help की Biography Author हूँ. Education की बात करूँ तो मैं Mass Communication से Graduate हूँ. मुझे Biography पढ़ना और दूसरों को पढ़ाना में बड़ा मज़ा आता है.

2 thoughts on “भगोड़ा घोषित Mehul Choksi का जीवन परिचय”

Leave a Comment