COVID -19 के तीसरे लहर की तैयारी शुरू, बच्चों के लिए Covid-19 Vaccine ‘Covaxine’ के ट्रायल शुरू

|

Covid-19 vaccine For Children: कोरोना महामारी से जूझ रहे लोगों के लिए वैक्सीन की सुरक्षा देने का काम चल रहा है, 18 साल की आयुवर्ग के बाद अब जल्द ही दो साल तक के बच्चों के लिए भी आ जाएगी Covid-19 vaccine, ट्रायल की हो रही तैयारी.

देश में अब जल्द ही 2 साल से 18 साल के बच्चों के लिए Covid-19 vaccine मिल जाएगी। इसके लिए एक एक्सपर्ट समिति ने Bharat Biotech के Covid-19 टीके कोवैक्सीन के दूसरे और तीसरे चरण के लिए ट्रायल की सिफारिश की थी, जिसके बाद इसके ट्रायल की मंजूरी मिल गई है. विशेषज्ञों ने डर दिया कि यदि तीसरी तरंग Covid-19 आया, तो बच्चों को उस पर कई प्रभाव मिल सकते थे। एक ही कड़ी में अब एक बड़ा कदम उठाया गया है। Covid-19 vaccine से संबंधित विषय विशेषज्ञ समिति (एसईसी) को 2 से 18 साल Bharat Biotech के बच्चों के लिए कोशिश की जाने की सिफारिश की गई थी, जिन्हें अब अनुमति गई है।

सब्जेक्ट एक्सपर्ट कमेटी (SEC) ने कहा है कि यह नैदानिक ​​परीक्षण 525 लोगों में किया जाएगा, यह एमआईएमएस दिल्ली एम्स अस्पताल, पटना एम्स, नागपुर में होगा। समिति की सिफारिश के अनुसार, Bharat Biotech को चरण 3 परीक्षण शुरू करने से पहले एक पूर्ण चरण 2 डेटा कमेटी प्रदान करनी होगी और यदि परीक्षण सफल हो, तो vaccine जल्द ही आ जाएगी।

सीडीएससीओ ने Bharat Biotech के आवेदन पर किया Covid-19 vaccine पर विचार

केंद्रीय चिकित्सा मानक नियंत्रण संगठन के Covid-19 विषय विशेषज्ञ समिति चर्चा करा हैं कि मंगलवार को Bharat Biotech द्वारा किए गए आवेदन में, जहां अन्य चीजों में 18 वर्षों के बच्चों में 50 साल के बच्चों को Covaxine vaccine के दो साल के लिए चरण दूसरे का आकलन करने के लिए शामिल किया गया है और परीक्षण का तीसरा पूछा गया था।

Bharat Biotech ने आईसीएमआर के साथ एक Covaxin विकसित किया है। कंपनी उत्पादन और विपणन भी बनाती है। भारत में Vaccination अभियानों में, Covaxine का उपयोग सीरम संस्थानों के साथ किया जा रहा है।

यह भी पड़े = MP Police Constable Admit Card 2021 At peb.mp.gov.in

Covid-19 के डबल म्यूटेंट पर असरदार है Covaxine

पहले, न्यूयॉर्क टाइम्स अमेरिकन न्यूज़पेपर ने बताया कि काम Covid-19 के खिलाफ एंटीबॉडी ने बदल दिया। कुछ दिन पहले, तीसरे परीक्षण के नतीजों ने कहा, आईसीएमआर और Bharat Biotech ने कहा कि सामान्य Covid-19 रोगियों में Covaxine टीका 78 प्रतिशत तक पहुंच गई है।

राज्यों को Covid-19 Vaccine भेजनी शुरू की

एक सूत्र ने कहा कि कंपनी के कार्यान्वयन की विस्तृत चर्चा के बाद, समिति ने प्रस्तावित दूसरे / तीसरे चरण का परीक्षण करने की अनुमति दी। Bharat Biotech ने सभी राज्य राज्यों को Covid-19 कोवेसीन टीका में आपूर्ति करना शुरू कर दिया है। जानकारी Bharat Biotech कंपनी द्वारा एक ट्वीट के माध्यम से दी गई थी। इन राज्यों की आपूर्ति की जाती है, जिसमें आंध्र प्रदेश, असम, छत्तीसगढ़, दिल्ली, गुजरात, जम्मू-कश्मीर, झारखंड, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, ओडिशा, तमिलनाडु, तेलंगाना, उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल शामिल हैं।

 

बच्चों को Covid-19 Vaccine कब तक दी जाएगी?

शुरू में कहा गया कि बच्चों में वायरस के संक्रमण का असर नहीं होता, लेकिन बाद में पता चला कि वायरस का संक्रमण होता है। बच्चों की इम्यूनिटी अच्छी होने की वजह से शरीर वायरस से लड़ लेता है। हालांकि इस बीच बच्चे से दूसरे में वायरस का ट्रांसमिशन होता रहता है। इसलिए उन्हें भी वायरस से बचाना उतना ही जरूरी है। जहां तक वैक्सीन की बात है, शुरू में 18 साल से नीचे वाले बच्चों पर ट्रायल नहीं हुआ है, लेकिन कई देशों में 12 साल,18 साल के बच्चों पर ट्रायल चल रहा है। अब जैसा भी परिणाम आएगा, लोगों को बताया जाएगा और हमारे देश में भी व्यवस्था की जाएगी।’

बच्‍चे बन सकते हैं Covid-19 वायरस के वाहक

विशेषज्ञों का कहना है कि Covid-19 वायरस संक्रमण बच्‍चों को भले गंभीर रूप से प्रभावित न करें, लेकिन वे संक्रमण के वाहक हो सकते हैं और बुजुर्गों और बड़ों में तेजी से इस बीमारी को पहुंचा सकते हैं। ऐसे में विशेषज्ञ बच्‍चों के Covid-19 टीकाकरण को भी अहम मानते हैं, जिन्‍हें फिलहाल covid-19 vaccine की प्रक्रिया में शामिल नहीं किया गया है। बच्‍चों पर Covid-19 टीकों का असर क्‍या होता है, इसके लिए ट्रायल जल्‍द शुरू होने की संभावना है।

Covid-19 के तीसरे लहर में बच्चों को सावधानी से रखे

बड़ों के मुकाबले छोटे बच्चों को कोविद 19 का संक्रमण जल्दी होता है और उनमें वायरल लोड बड़ों के मुकाबले ज्यादा होता है, लेकिन उनमें लक्षण नहीं दिखाई देते हैं। वो संक्रमित होकर ठीक भी हो जाते हैं, उन्हें न बुखार आता है, न सर्दी-जुकाम और न डायरिया। लक्षण नहीं होने के चलते वो सबके करीब आते-जाते रहते हैं और देखते ही देखते संक्रमित बच्चे सुपर स्प्रेडर बन जाते हैं। इसलिए अगर घर में कोई Covid-19 पॉजिटिव है तो घर के बच्चों का भी टेस्ट जरूर करवाएं। बच्चे का भी उपचार कराने की जरूरत है।

यह भी पड़े = Noun And The Case & Their Rules

कनाडा में 12 वर्ष के बच्चों को Covid-19 Vaccine लगनी शुरू हो भी चुकी 

हालांकि, अब कनाडा, अमेरिका, इंग्लैंड जैसे देशों में बजुर्गों को कवर कर लेने के बाद वहां के सरकारों की नजर अब बच्चों की तरफ गई है। कई देशों में 16 वर्ष तक के किशोरों को फाइजर की कोविद 19  वैक्सीन लगाई जा रही है। कनाडा ने तो 12 वर्ष के बच्चों को भी टीका लगाना शुरू कर दिया है। दरअसल, कोविद 19  काल में बच्चों की खराब होती पढ़ाई से पैरेंट्स, टीचर और शैक्षिक संगठन भी चिंतित हैं। सभी चाहते हैं कि बच्चों को Covid-19 के खिलाफ सुरक्षा कवच दे दिया जाए ताकि वो जल्दी से जल्दी अपनी-अपनी कक्षाओं में लौट सकें।

नमस्कार मैं जतिन जैन आपका मेरे ब्लॉग पर आपका स्वागत करता हूँ। मुझे हेल्थ के बारे औए सेहत के बारे में लिखना पढ़ना अच्छा लगता है। मैं निरंतर कोशिश करता हूँ कि लोगो की जीवनशैली को स्वस्थ बनाने के लिए छोटे उपाय बता पाऊं जिस से उनका जीवन स्वस्थ हो।

1 thought on “COVID -19 के तीसरे लहर की तैयारी शुरू, बच्चों के लिए Covid-19 Vaccine ‘Covaxine’ के ट्रायल शुरू”

Leave a Comment