Vaccine के 2 डोज़ बाद भी हो सकता है COVID-19, जानिए क्यों Vaccine लेना है अनिवार्य

|

Covid-19 का संक्रमण देश में तेजी से बढ़ रहा है, 1 मई से 18 वर्ष से अधिक आयु के सभी लोगों का टीकाकरण शुरू हो चुका है। कोविन पोर्टल के माध्यम से VACCINE के स्लॉट की बुकिंग के लिए रजिस्ट्रेशन आरोग्य सेतु के  आवेदन भी शुरू हुआ है। आप उपरोक्त के माध्यम से एक टीका प्राप्त करने के लिए रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं। निःशुल्क रजिस्ट्रेशन है।

हालांकि पहले ही दिन पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करवाने वाले लोगों की संख्या ज्यादा होने से वेबसाइट क्रैश होने तक की खबरें भी आई थी। ऐसी परिस्थितियों में, कई लोग स्लॉट बुक नहीं कर सकते थे। लेकिन आप एक निरन्तर वेबसाइट पर जांच करना जारी रखे, जैसे ही स्लॉट उपलब्ध होगा आपका रजिस्ट्रेशन हो जाएगा।

Covid-19 की लड़ाई में यह VACCINE महत्वपूर्ण माना जाता है। यह न केवल संक्रमण के जोखिम को कम करता है, बल्कि हमारी बीमारी के प्रतिरोध को भी बढ़ाता है। हालांकि, कुछ मामलों में दोनों खुराक लेने के बावजूद, रिपोर्ट भी संक्रमित होगी।

Covid-19 Vaccine क्या है?

टीकों में कुछ जीव कमजोर या निष्क्रिय अंश होता है, जो बीमारी का कारण बनते हैं। यह शरीर की बीमारी संक्रमण और वायरस की पहचान करने के लिए प्रतिरोधी रक्षा प्रणाली को प्रेरित करती है। टीके हमारे शरीर में ऐसे वायरस के खिलाफ एंटीबॉडी बनाती हैं जो हमारे शरीर को बाहर के हमलों से लड़ने में मदद करती हैं।

वर्तमान में केन्द्र सरकार द्वारा दो प्रकार की वैक्सीन (Vaccine) लगवाई जा रही है, जिनके नाम इस प्रकार है

भारत बायोटेक द्वारा निर्मित – कोवैक्सीन (covexin)

सीरम इंस्टीट्यूट द्वारा निर्मित – कोविशील्ड (Covishield)

इन दो वैक्सीन के अलावा रूसी वैक्सीन स्पुतनिक वी का भी आने वाले दिनों में उपयोग शुरू हो जाएगा।

 क्या Covid-19 Vaccine के दोनों डोज़ लगने के बाद भी कोरोना होना मुम्किन है?

टीका के बाद भी, कोरोना संक्रमण को खारिज नहीं किया जा सकता है। देश में ऐसे कुछ मामले रिकॉर्ड हुए हैं जिनमें वैक्सीन लगवाने के बाद भी लोगों के संक्रमित होने की जानकारी सामने आई है लेकिन वैक्सीन लगवाने के बाद संक्रमण व बीमारी का खतरा सामान्य बना रहता है।आपकी टीका के बाद जल्दी ठीक हो सकता है। टीके हमें जानलेवा कोरोना से बचाती हैं।ऐसे में वैक्सीन जरूर लगाना चाहिए।

यह भी पढ़े = Covid19 के दौर में करे इन 10 Protein Rich Food का सेवन, शरीर को मिलेगा भरपूर Protein

पहले डोज़ के बाद दूसरा डोज़ कितने दिन में लगवाए?

पहला डोज़ टीका लगने के बाद, यह टीका पर निर्भर करता है कि आपको कौनसी वैक्सीन लगी है। यदि आपके पास कोवैक्सिन (Covaxin) है तो आप 28 से 42 दिनों के बीच ले सकते हैं। यदि आपका कोविविल्ड (Covishield) लगी है, तो आप 28 से 56 दिनों के बीच ले सकते हैं।

कोरोना वैक्सीन (Covid-19 Vaccine) के साइड इफ़ेक्ट 

कोरोना टीका के बाद, शरीर में विभिन्न प्रकार के प्रभाव और लक्षण देखा जा सकता है। मुख्य रूप से हल्के बुखार, कमजोरी, जोड़ों में संयुक्त दर्द, पानी की कमी आदि हैं। हालांकि ये लक्षण सही हैं। उसी समय, कुछ लोग शरीर पर लक्षण नहीं देखते हैं। यदि आपको टीका के बाद हल्का बुखार मिलता है, तो आप चिकित्सा परामर्श कर सकते हैं।

किन लोगों को कोरोना वैक्सीन (Covid-19 Vaccine) नहीं लगवानी चाहिए?

भारत बायोटेक ने Vaccine से सम्बंधित जानकारी जारी करते हुए कहा है कि कि ऐसे लोगों को ऐसी दवाएं करने में सक्षम नहीं होना चाहिए, जिनके इम्यूनिटी पर असर पड़ता है। इसके अलावा, जो गर्भवती महिलाएं हैं, स्तनपान का उपयोग नहीं किया जाना चाहिए क्योंकि टीका अध्ययन नहीं किए गए हैं। साथ ही, जो लोग  कोविशील्ड (Covishield) में मौजूद इंग्रीडिएंट से एलर्जी हैं, तो उन लोगों को कोविशिल्ड (कोविचिल्ड) वैक्सीन भी नहीं लगवानी चाहिए। पहली खुराक लेने के बाद एलर्जी के बाद भी, दूसरी टीका का उपयोग नहीं किया जाना चाहिए।

यह भी पढ़े =विक्टोरिया मेमोरियल (VICTORIA MEMORIAL) , पश्चिम बंगाल की शान

आप कोरोना से बचाव कैसे कर सकते है?

Covid-19 की रक्षा का सामान्य आकार यह है कि आपको कुछ सामाजिक दूरी से बचने के लिए संक्रमण से दूर रहने के लिए सरकारी दिशानिर्देशों का प्रबंधन करना होगा, भीड़ वाले स्थानों पर ना जाएं, साबुन से बार-बार हाथ धोएं, इस संक्रमण के सार्वजनिक स्थानों को पर्याप्त नहीं किया जा सकता है और टीका की जांच करें।

यह VACCINE प्रभावी है लेकिन 100 प्रतिशत प्रभावी साबित नहीं हुई है। यही है, एक टीका की संभावना भी संक्रमण को फैलाने या संक्रमित कर सकती है।

फाइजर के टीका निर्माण की प्रक्रिया की स्वतंत्र जांच पड़ताल करने वाले गैर लाभकारी संगठन एलर्जी एंड अस्थमा नेटवर्क की डॉ. पूर्वी पारिख का कहना है कि इन टीकों के निर्माण में संक्रमण के फैलाव से ज्यादा इसके बचाव पर जोर दिया गया है. वैज्ञानिकों के पास टीका बनाने का बहुत ही कम समय था, ऐसे में उन्होंने संक्रमण से बचाव, संचरण व फैलाव यानी तीनों पक्षों पर गहराइ से काम नहीं किया. इसलिए संभावना है कि टीका लगवाने के बाद भी लोग संक्रमण के वाहक बन जाएं.

नमस्कार मैं जतिन जैन आपका मेरे ब्लॉग पर आपका स्वागत करता हूँ। मुझे हेल्थ के बारे औए सेहत के बारे में लिखना पढ़ना अच्छा लगता है। मैं निरंतर कोशिश करता हूँ कि लोगो की जीवनशैली को स्वस्थ बनाने के लिए छोटे उपाय बता पाऊं जिस से उनका जीवन स्वस्थ हो।

1 thought on “Vaccine के 2 डोज़ बाद भी हो सकता है COVID-19, जानिए क्यों Vaccine लेना है अनिवार्य”

Leave a Comment