गृह संपर्क अभियान में शिक्षक कर रहे लापरवाही – jabalpur news

|

जबलपुर । बच्चों को विद्यालय में प्रवेश दिलाने के लिए शासन द्वारा चलाए जा रहे हैं गृह संपर्क अभियान को लेकर शिक्षकों द्वारा लापरवाही बरती जा रही है। जिसे लेकर शिक्षकों के विरुद्ध आदेश जारी किया गया है। गृह संपर्क अभियान के लिए जिलों को स्पष्ट निर्देश दिए गए थे। राज्य स्तर पर हुई समीक्षा के बाद कई प्रकार की लापरवाही सामने आई है। जिसके बाद इन पर बेहतर तरीके से कार्य करने के निर्देश शासन द्वारा दिए गए हैं। गृह संपर्क अभियान एप का 1.6 के स्थान पर अपडेट वर्जन 1.7 हो गया है, लेकिन कुछ जिलों में अभी भी पुराने वर्जन पर काम किया जा रहा है। मेंटर्स शिक्षक के निर्देशानुसार बच्चे भेंटकर्ता की फोटो के स्थान पर पेड़, आकाश, बेंच, दीवार आदि के फोटो अपलोड किए जा रहे हैं। जियोटेक माइयम से बच्चे के घर के स्थान पर न जाकर एक ही स्थान पर रहकर सर्वे कार्य किया जा रहा है। जिससे लोकेशन गलत दिखाई दे रही है। इस समीक्षा में यह भी देखा गया है कि कुछ मेंटर शिक्षक द्वारा स्वयं सर्वे न करते हुए अन्य व्यक्तियों के माध्यम से सर्वे कार्य करवाया जा रहा है। मेंटर शिक्षकों द्वारा एप के अंतर्गत दी गई जानकारी को पूर्ण रूप से नहीं भरा जा रहा है। इस तरह की तमाम लापरवाहियों को देखते हुए राज्य शिक्षा केंद्र को सूचित किया गया है कि वे इसकी मानिटरिंग करें और गलतियों में सुधार करवाएं

जिले में नहीं हो रही कोई लापरवाही : जिला परियोजना समन्वयक आरके चतुर्वेदी ने बताया कि समीक्षा के बाद इस तरह के आदेश जारी किए गए हैं, लेकिन इनमें सभी जिलों से गलतियां नहीं मिली है। यह एक आम आदेश है। जिले में गृह संपर्क अभियान में शिक्षक हर रोज बच्चों के घर जाकर संपर्क कर रहे हैं। उनकी फोटो भी अपलोड कर रहे हैं। कई बार फोटो अपलोड करने में कुछ त्रुटियां तकनीकी तौर पर हो जाती हैं। जिले से अभी तक एक भी शिकायतें नहीं मिली हैं।

नमस्कार दोस्तों, मैं Ghanshyam Patel, Help2Helpका Technical Author & Co-Founder हूँ. Education की बात करूँ तो मैं एक B.Com Graduate हूँ. मुझे नयी नयी Technology से सम्बंधित चीज़ों को सीखना और दूसरों को सिखाने में बड़ा मज़ा आता है.

Leave a Comment