MPIN MEANING क्या है? MPIN कैसे GENERATE करे?

|

नमस्कार दोस्तों स्वागत हे, आपका हमरी एक और नई पोस्ट में आज हम आपको बताने वाले हे की MPIN क्या है आप इसका कैसे इस्तमाल कर सकते है और कैसे आप घर बैठे MPIN को generate कर सकते हे | तो पोस्ट को लास्ट तक अवश्य पड़े आखरी में आपको हम कुछ महत्वपूर्ण जानकारी देंगे और बताएंगे की कैसे आप आपके MPIN को सुरक्षित रख सकते हे और कौन – कोन सी गलतिया आपको नहीं करनी है जिससे आपके बैंक बैलेंस को कोई हानि न हो तो पोस्ट को लास्ट तक अवश्य पड़े |

एमपिन क्या है? – What is MPIN?

एमपिन ( MPIN ) एक सुरक्षा कोड है जिसकी मदद से आप बैंक में कोई भी लेनदेन घर बैठे मोबाइल एप्लीकेशन की मदद से कर सकते है. साधारण शब्दों में एमपिन ( MPIN ) को आप एक तरह से पासवर्ड कह सकते है जिस प्रकार आपके गूगल अकाउंट का एक पासवर्ड होता है, एटीएम का एक पिन होता है, उसी प्रकार अगर आपको ऑनलाइन मोबाइल एप्लीकेशन से कोई ट्रांसजेक्शन करना है तो आपको एमपिन ( MPIN ) की जरूरत पड़ेगी.

एमपिन 4 अंको का भी हो सकता है और 6 अंको का भी. अलग अलग बैंको द्वारा अलग अलग डिजिट के एमपिन बनाये गए है जिसमे से आप भी अपनी बैंक अकाउंट का कोई एमपिन बना सकते है.
बैंक ऑफ़ बरोडा 4 अंक
स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया 6 अंक
इसी प्रकार अलग अलग बैंक का एमपिन ( MPIN ) अंक अलग अलग होता है हो सकता है कुछ बैंको का एमपिन 4 अंक ही होता है.

एमपिन के क्या महत्व है? – What is the importance of MPIN?

डिजिटल इंडिया के दौर में हर बैंक आज कल ऑनलाइन है ऐसे में ऑनलाइन फ्रॉड होने से बचने के लिए एक मात्र उपाय MPIN ही है. डिजिटल बैंकिंग के दौर में MPIN का विशेष महत्व है. एमपिन की मदद से आप आपके बैंक अकाउंट को सुरक्षित कर सकते है और उसमे होने वाली लेन देन को कण्ट्रोल कर सकते है.

अगर आपके बैंक डिटेल्स किसी के पास चली गयी है या चुरा ली गई है तो जब तक आपके पास आपका MPIN है तब तक आपके बैंक का अमाउंट सुरक्षित है इसीलिए आप आपके MPIN को हो सके उतना सुरक्षित रखे और कठोर MPIN का चयन करे. जिससे कोई भी उसको आसानी से समझ न सके.

बहुत सारे लोग अपनी जन्म तारिक को अपना MPIN रखते है लेकिन जब आपकी बैंक डिटेल्स किसी ने चुरा ली है तो उसके पास आपकी जन्म तिथि तो ऑलरेडी पहुंच गयी है ऐसे में आपके बैंक का बैलेंस कम हो सकता है.

पोस्ट में लास्ट तक बने रहिये हम आपको बताएंगे की कैसे आप एक कठोर MPIN बना सकते है जिसको आप आसानी से याद रख सकते है और किसी को पता भी नहीं चलेगा. उस पिन को आप कभी भूल भी नहीं पाएंगे तो पोस्ट को लास्ट तक अवश्य पड़े.

क्यों उपयोगी है एमपिन? – Why MPIN is useful?

दोस्तों आपको अब एमपिन के महत्व तो पता चल गया है, क्या आप जानते है एमपिन इतना उपयोगी क्यों है? क्या कारण है की इसका उपयोग देशभर में बहुत ज्यादा किया जाता है इसके लिए हमने निचे दिए गए कुछ पॉइंट्स में बताया है जिसको पढ़ कर आप आसानी से समझ सकते है की आपको एमपिन क्यों उपयोगी है.

  • Mobile banking application
  • Instant transaction
  • Online payment

Mobile banking application –

अगर आप एक एंड्राइड यूजर है तो आपको मोबाइल बैंकिंग एप्लीकेशन के बारे में अच्छे से पता होगा अगर आपको नहीं पता है तो चलिए हम बताते है, मोबाइल बैंकिंग ऍप्लिकेशन्स में आपको बैंकिंग ऍप्लिकेशन्स मिलती है जिसकी मदद से आप घर बैठे ऑनलाइन रिचार्ज से लेकर जितने भी काम है चाहे वो किसी को पैसे ट्रांसफर करने हो वो घर बैठे कर सकते है.
इसके लिए आपके बैंक में आपका मोबाइल नंबर रजिस्टर होना चाहिए और आपके पास एटीएम होना चाहिए जिसके बाद आप बैंकिंग एप्लीकेशन में अपना अपना अकाउंट ऐड कर उसका एमपिन बना सकते है और इस्तमाल कर सकते है.

Instant transaction –

अगर आपको किसी को अपने अकाउंट से किसी और के अकाउंट में पैसे ट्रांसफर करना है तो आप किसी भी मोबाइल एप्लीकेशन और पेमेंट्स वेबसाइट पर अपना अकाउंट बना कर वहा से अपना एक नया एमपिन बना सकते है किसी को भी इंस्टेंट पेमेंट ( instant transaction ) कर सकते है| इसके लिए भी आपके पास एटीएम और मोबाइल नंबर आपके बैंक में जुड़े हुए होना चाहिए.
कोरोना कॉल के चलते अब सब कैशलेस ट्रांसजेक्शन कर रहे है जिसमे आप अगर किसी शॉप से सामना खरीदते है तो भी आपको ऑनलाइन ही पेमेंट करना है जिससे कोरोना को रोका जा सके.

Online payment –

अगर आपको ऑनलाइन कोई सामान खरीदना है या कोई बिल का भुगतान करते है तो आपको ऑनलाइन पेमेंट करने की जरूरत होती है ऐसे में अगर आपके पास कोई मोबाइल एप्लीकेशन है जिसकी मदद से आप आपके बैंक को उसके साथ लिंक करके वह पेमेंट आसानी से कर सकते है.

ऑनलाइन पेमेंट में आप एमपिन की जगह OTP ( ONE TIME PASSWORD ) का इस्तमाल कर सकते है जो आपके बैंक में रजिस्टर मोबाइल नंबर पर बैंक द्वारा भेजा जाता है. उसकी मदद से भी आप एमपिन की जगह उपयोग कर ट्रांसजेक्शन कर सकते है.

तो दोस्तों ऊपर दिए गए पॉइटंस से आपको एमपिन ( MPIN ) का उपयोग क्यों करना चाहिए समझ में आ गया होगा तो चलिए आगे बढ़ते है और जानते है की कैसे आप घर बैठे बिना बैंक जाये एमपिन ( MPIN ) को generate कर सकते है और मोबाइल बैंकिंग का घर बैठे उपयोग कर सकते है.

TV Anchor Rohit Sardana का जीवन परिचय

एमपिन को कैसे GENERATE करे – How to GENERATE MPIN IN HINDI

अलग अलग प्लेटफॉर्म पर आप अलग अलग तरिके से एमपिन बना सकते है आज हम आपको upi id के लिए कैसे आप एमपिन बना सकते है सिखाएंगे वो भी बहुत ही आसान तरिके से, इसके लिए आपको निचे दिए गए पॉइंट्स को ध्यान से पड़े, जिसकी मदद से आप आसानी से मोबाइल बैंकिंग पिन ( mpin ) को जेनेरेट कर सकते है.

  • सबसे पहले किसी भी मोबाइल बैंकिंग एप्लीकेशन को इनस्टॉल कर लेना है आज हम demo के रूप में आपको PHONE PE के बारे में बताएंगे सभी बैंकिंग एप्लीकेशन का एमपिन ( MPIN ) जेनेरेट प्रोसेस लगभग सामान ही होती है तो आप किसी भी बैंकिंग एप्लीकेशन का इस्तमाल कर सकते है.
  • आप जब पहले बार phone pe को open करते है तो आपसे यह मोबाइल नंबर मांगेगा तो आप इनको अपना बैंक से जुड़ा हुआ मोबाइल नंबर प्रदान करे.
  • फ़ोन पे की तरफ से आपको एक OTP आएगा जो वह स्वयं ही डिटेक्ट कर लेगा.
  • अब आपको my account सेक्शन में जाना होगा my account में अब आपको bank accounts में जाना होगा |
  • अब आपको add new bank account पर क्लिक करना है |
  • आपको आपकी bank को सेलेक्ट करना है जिसमे आपका account लिंक है |
  • ध्यान रहे आपका bank account मोबाइल नंबर से लिंक होना चाहिए ताकि आपकी बैंक की जानकारी phone pe मोबाइल नम्बर के माध्यम से ले सके | और आपके पास आपकी bank का एटीएम होना अनिवार्य है |
  • जब आप आपका bank account, phone pe से लिंक हो जायेगा तो आपको UPI PIN बनाना हे इसके लिए आपके पास एटीएम होना अनिवार्य हे
  • SETUP PIN पर आपको क्लिक करना हे अब आपके एटीएम के लास्ट के 6 अंक मांगेगा ध्यान रहे एटीएम आपका एक्टिव होना चाहिए तभी जाकर यहाँ प्रोसेस हो पायेगी |
  • पूरी इनफार्मेशन भरने के बाद CONTINUE पर क्लिक करा हे |
  • जैसे ही आप CONTINUE पर क्लिक करते हे तो आपके सामने NEW पेज आ जायेगा उसमे आपको OTP मांगेगा जो
  • स्वतः ही PHONE PE डिटेक्ट कर लेगा |
  • अब निचे आपको UPI PIN डालना है दोस्तों यही UPI PIN ही एमपिन ( MPIN ) है तो आप इसको सावधानी से और ध्यान से भरे आप यहाँ जितना कठिन हो सके उतना कठिन एमपिन  ( MPIN ) दर्ज करे ताकि आपका बैंक अकाउंट उतना ही सुरक्षित रहे.

अब आपका बैंक अकाउंट मोबाइल एप्लीकेशन से सफलतापूर्वक जुड़ गया है अब आप इसकी मदद से ऑनलाइन पेमेंट्स कर सकते है.

चलिए अब जानते है की आप एक SECURE एमपिन ( MPIN ) कैसे बना सकते है जिससे आपके बैंक अकाउंट के अमाउंट को कोई हानि न हो और उसको आप आसानी से याद भी रख सके.

CNG Ka Full Form kya hai? | सीएनजी का फुल फॉर्म क्या है?

SECURE MPIN कैसे बनाये?

दोस्तों आज हम आपको एक ऐसी तकनीक बताएंगे जिससे आपका एमपिन बिलकुल सिक्योर ( Secure ) हो जायेगा उसको कभी कोई भी इंटेलिजेंट हैक या उसके बारे में सोच भी नहीं सकता है.
इस तकनीक को हम NDMA कहते है चलिए जानते है NDMA क्या है? और इसका इस्तमाल क्यों करना चाहिए और यहाँ कैसे काम करता है.

NDMA का पूरा नाम

N – First letter of the name ( Pratap Bhuriya )

D – First Digit of date of birth ( 04/06/2002 )

M – First digit of mobile number ( 7745******* )

A – First letter of address ( India ) 

ऊपर आपको  NDMA का full form पता चल गया होगा और हमने आपको समझने के लिए एक उदहारण भी दिया है उनके सामने ही हमारे द्वारा बनाई एक प्रोफाइल है इसका अगर हम अगर एमपिन ( MPIN ) बनाएंगे तो आप निचे देख सकते है कुछ इस प्रकार बनेगा

P = 16

0 = 0 

7 = 7

I = 9

MPIN = 1079 

तो दोस्तों इस तरिके से आप आसानी से एक सिक्योर और आसान एमपिन ( MPIN ) बना सकते है.

मेरी बाते 

तो दोस्तों उम्मीद करता हु की आपको अच्छे से समझ में आ गया होगा की एमपिन ( MPIN ) क्या है? एमपिन ( MPIN ) कैसे बनाये? एमपिन ( MPIN ) के क्या उपयोग है? तो अगर आपको इस पोस्ट से कुछ सिखने को मिला है तो आप इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ अवश्य शेयर करे ताकि वो भी अपने एमपिन ( MPIN ) को सुरक्षित रख सके.

Pratap Bhuria is a professional article writer who has been working in the field of blogging for the last 3 years. His interest is in blogging and in seeing new things and reading books.

Leave a Comment