MS Dhoni का जीवन परिचय {M.S Dhoni Biography}

|

ये भी पढ़े:

Bday Special: Singer Neha Kakkad की Biography

कौन है M.S Dhoni

MS Dhoni और Mahendra Singh Dhoni एक ऐसा नाम जिसे दुनियां भर के महान क्रिकेटरों में गिना जाता है। एक वक्त था जब इस नाम को कोई नहीं जनता था और एक आज का वक्त है जब इनका नाम एक कामयाब खिलाड़ी में शुमार है। वहीं अगर बात की जाए इनकी सफलता की राह की तो MS Dhoni के लिए यह रास्ता बिलकुल भी आसान नहीं था। MS Dhoni को एक साधारण इंसान से महान क्रिकेटर बनने के लिए अपने जीवन में काफी संघर्ष करना पड़ा था।

M.S. Dhoni Family
MS Dhoni Family

 

आपको बता दें कि, M.S Dhoni ने Cricket खेलने की शुरुआत अपने स्कूलों के दिनों से ही कर दी थी, लेकिन Indian Team का हिस्सा msबनने में इनको कई साल लग गए। लेकिन इन्होने कभी भी अपनी परिस्थितियों के आगे हार नहीं मानी और आज एक कामयाब Cricketer के रूप में अपनी पहचान कायम की। वहीं आज हम बात करेंगे M.S Dhoni के बारे में, उनके करियर के बारे में और उनके स्ट्रगल के बारे में। तो चलिए शुरू करते है:

परिचय

MS Dhoni का पूरा नाम Mahendra Singh Dhoni है। इनका जन्म सन् 1981 में भारत के झारखंड राज्य में हुआ था। इनके पिता का नाम पान सिंह है जो की मेकॉन (MECON) कंपनी में कार्य किया करते थे और इनकी माता का नाम देवकी देवी है। इनके परिवार का नाता उत्तराखंड से है, लेकिन इनके पिता अपने कार्य के चलते झारखंड राज्य आकर रहने लग गए थे। जिसके बाद से ये इसी राज्य के निवासी हो गए। Dhoni के परिवार में इनके मां और पिता के अलावा इनकी बहन, भाई भी है। इनकी बड़ी बहन एक अध्यापिका हैं और बड़े भाई एक राजनेता हैं।

पढाई

MS Dhoni का जन्म झाड़खंड में हुआ था जिसके चलते इन्होने यही के डीएवी जवाहर विद्या मंदिर स्कूल से अपनी शुरुआती शिक्षा हासिल की है। अपनी 12 वीं कक्षा की पढ़ाई करने के बाद इन्होंने सेट.ज़ेवियर कॉलेज में दाखिला लिया था। लेकिन क्रिकेट के लिए धोनी को अपनी पढ़ाई के साथ समझौता करना पड़ा और इन्होंने अपनी पढ़ाई को बीच में ही छोड़ दिया।

क्रिकेट करियर

MS Dhoni को साल 1999 में पहली बार रणजी ट्रॉफी खेलने का मौका मिला था। आपको बता दें कि, यह पहला रणजी ट्रॉफी मैच बिहार राज्य की तरफ से असम क्रिकेट टीम के विरुद्ध खेला गया था। इस मैच की दूसरी पारी में Dhoni ने नाबाद 68 रन बनाए थे, जबकि इस ट्रॉफी के इस सत्र में इन्होंने कुल 5 मैचों में 283 रन अपने नाम किए थे।

बने टिकट कलेक्टर

M.S Dhoni के बेहतरीन प्रदर्शन के बाद भी उन्हें ईस्ट जॉन सेलेक्टर ने सेलेक्ट नहीं किया था। जिसकी वजह से M.S Dhoni ने खेल से दूरी बना ली और साल 2001 में कोलकाता राज्य में रेलवे विभाग में बतौर टिकट कलेक्टर के रूप में कार्य करना शुरू कर दिया। लेकिन Dhoni की किस्मत में टिकिट कलेक्टर नहीं बल्कि कुछ और ही लिखा था। जिसकी वजह से Dhoni का मन इस नौकरी में नहीं लगा और इन्होंने तीन साल के अंदर ही इस नौकरी छोड़ दी। जिसके बाद उन्होंने फिर से अपने क्रिकेट करियर पर ध्यान देना शुरू कर दिया।

क्रिकेट पर लौटी गाड़ी

नौकरी छोड़ने का बाद साल 2001 में Dhoni का चयन दिलीप ट्रॉफी के लिए हो गया, लेकिन उनको उनके चयन की जानकारी सही समय पर मिल नहीं पाई। जिसके कारण धोनी इस ट्रॉफी में हिस्सा नहीं ले पाए और उनके हाथ से यह मौका छूट गया। जिसके बाद साल 2003 में M.S Dhoni को जमशेदपुर में प्रतिभा संसाधन “विकास विंग” के हुए मैच में खेलते हुए बंगाल के पूर्व कप्तान Prakash Poddar ने देखा। Prakash Poddar Dhoni के खेल से बहुत प्रब्वहावित हुए थे जिसके चलते उन्होंने Dhoni की जानकारी राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी को दी। जिसके बाद M.S Dhoni का चयन बिहार अंडर-19 टीम में हो गया। इसके बाद Dhoni धीरे-धीरे सफलता की उचाईयों को छूने लगे थे।

ms dhoni
ms dhoni

पहला वन डे मैच

साल 2004 में Dhoni को Indian Team की ओर से पहला अंतर्राष्ट्रीय वन डे मैच (ओडीआई) खेलने का मौका मिला था और इन्होंने अपना पहला ओडीआई मैच बंग्लादेश टीम के विरुद्ध खेला था। अपने पहले अंतर्राष्ट्रीय मैच में Dhoni ने कुछ खास कमाल नहीं दिखाया और वो शून्य पर लौट गये। हालांकि धोनी के खराब प्रदर्शन के बावजूद भी इनका चयन पाकिस्तान के साथ खेले जाने वाले अगले ओडीआई मैच में कर लिया गया था। जिसके बाद उन्होंने पाकिस्तान के साथ खेले गए इस मैच में शानदार प्रदर्शन किया। आपको बता दें कि, इस मैच में इन्होंने कुल 148 रन अपने नाम किए थे।

धोनी ने बनाए रिकॉर्ड

आपको बता दें कि, MS Dhoni पहले ऐसे भारतीय विकेटकीपर हैं जिन्होंने टेस्ट मैचों में कुल 4,000 रन बनाए है। इनसे पहले किसी भी भारतीय विकेटकीपर ने इतने रन नहीं बनाए। इसके बाद Indian Team ने MS Dhoni की कॅप्टेन्सी के अंदर रहते हुए कुल 27 टेस्ट मैचों में जीत अपने नाम की। इसके साथ ही Dhoni का नाम सबसे सफल भारतीय टेस्ट कप्तान में रिकॉर्ड है। MS Dhoni की कप्तानी के दौरान भारतीय टीम ने “टी-20 वर्ल्ड कप 2007”, “ओडीआई वर्ल्डकप 2011” और “चैंपियंस ट्रॉफी 2013” जीती है, जिसके साथ ही ये पहले ऐसे कप्तान बन गए हैं, जिसने सभी प्रकार के आईसीसी टूर्नामेंट कप जीते हुए है।

अवार्ड

राजीवगांधी खेलरत्न अवार्ड (2007)
पद्मश्री अवार्ड (2009)
पद्मभूषण अवार्ड (2018)
MS Dhoni ने दो बार आईसीसी ओडीआई प्लेयर ऑफ दी ईयर, मैन ऑफ दी मैच और मैन ऑफ दी सीरीज अवॉर्ड भी जीते है।

शादी

MS Dhoni की शादी Sakshi Singh Rawat से हुई है। दोनों की लव मैरिज है और अब दोनों की एक बेटी भी है जिसका नाम जीवा है। दोनों की लव स्टोरी भी काफी इंटरेस्टिंग है। जहां एक ओर क्रिकेट के सरताज थे, वहीं दूसरी ओर Sakshi थी जिसे क्रिकेट में बिलकुल इंटरेस्ट नहीं था। लेकिन दोनों एक दूसरे को बचपन से जानते थे क्योकि दोनों एक ही स्कूल में पढ़े है लेकिन Sakshi के पिता का ट्रांसफर हो जाने के कारण वे देहरादून चली गई। जिसके बाद दोनों की मुलाकार ताज होटल में हुई और फिर दोनों की दोस्ती हुई और दोस्ती प्यार में बदल गई। जिसके बाद दोनों ने 4 जुलाई 2010 को शादी कर ली।

Dhoni-sakshi
Dhoni-sakshi

विशेष तथ्य

आशा करती हु कि, आप सभी अपने घरों में Safe होंगे और आपको हमारी यह पोस्ट पसंद आई होगी। MS Dhoni के बारे में तमाम जानकारी आपको मिल गई होगी अगर आप हमसे कुछ भी पूछना चाहते है तो आप Comment के जरिए पूछ सकते है। आपको जल्द ही उसका Reply मिलेगा। ऐसी ही पोस्ट के लिए help2hindi के और पोस्ट पढ़े।

 

नमस्कार दोस्तों, मैं Akanksha Jain Help2Help की Biography Author हूँ. Education की बात करूँ तो मैं Mass Communication से Graduate हूँ. मुझे Biography पढ़ना और दूसरों को पढ़ाना में बड़ा मज़ा आता है.

3 thoughts on “MS Dhoni का जीवन परिचय {M.S Dhoni Biography}”

Leave a Comment

close