श्री महाकालेश्वर मंदिर में दर्शन हेतु प्रवेश व्यवस्था में किया बदलाव – ujjain

|

उज्जैन । श्री महाकालेश्ववर मंदिर में श्रद्धालुओं की दर्शन व्यवस्था में हल्के बदलाव किए गए हैं।मंदिर प्रबंध समिति प्रशासक व अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी नरेन्द्र सूर्यवंशी ने बताया कि, वर्तमान में श्री महाकालेश्वर भगवान के दर्शन हेतु आने वाले श्रद्धालु चार धाम से लाईन में लग रहे थे। अब नई व्यवस्था के अंतर्गत प्री बुकिंग करके आने वाले श्रद्धालुओं और शीघ्र दर्शन से जाने वाले दर्शनार्थियों को भी हरसिद्धि मंदिर के सामने शेर चौराहे से लाईन में लगना होगा। दोनों दर्शनाथियो उसी स्थान पर अलग – अलग लाइन से प्रवेश कर भगवान के दर्शन कर सकेंगे।

दर्शनार्थी दर्शन हेतू हरिफाटक की चौथी भुजा से चारधाम पार्किंग तक आयेंगे। शेर चौराहे से (हरसिद्धी) लाईन में लगकर श्री महाकालेश्वर अतिथि निवास के पीछे से होते हुए शंख द्वार से फेसिलिटी सेन्टर में प्रवेश कर भगवान के दर्शन करेंगे व निर्गम रूद्र सागर की ओर चार धाम से ही रहेगा।

महाकाल घाटी और बेगमबाग मार्ग पर दर्शनार्थियों का आवागमन निषेध रहेगा यदि दर्शनार्थी त्रुटिवश महाकाल घाटी या चौबीस खम्बा मार्ग से महाकाल मंदिर के सामने आ जाते है तो उन्हें बड़ा गणेश मंदिर मार्ग से आगे निकाल कर हरसिद्धि शेर चौराहे से बेरिकेट में प्रवेश दिया जाएगा।

दर्शन का समय प्रात: 05 से रात्रि 09 बजे तक रहेगा।

श्री महाकालेश्वर भगवान के सामान्य दर्शन प्रीबुकिंग के माध्यम से ही होंगे।

 

सभी श्रद्धालुओं से आग्रह है कि, वे प्रीबुकिंग कराकर कोविड प्रोटोकॉल के तहत वैक्सिनेशन सर्टिफिकेट या 48 घण्टे पूर्व की कोविड नेगेटिव रिपोर्ट साथ लाकर निर्धारित दर्शन स्लॉट में ही दर्शन हेतु आयें ।

भस्मार्ती के पश्चात सामान्य दर्शनार्थियों के लिये श्री महाकालेश्वर भगवान के दर्शन हेतु प्रवेश प्रात: 05 से रात्रि 09 बजे तक प्रीबुकिंग के माध्यम से होंगे। इस दौरान शीघ्रदर्शन रू. 250/- टिकिट काउन्टर चालू रहेंगे।

इसी प्रकार पुजारी, पुरोहित, पत्रकार, ड्यूटीरत कर्मचारी, अधिकारियों की प्रवेश व्यवस्था गेट नं. 04 से रहेगी।

नमस्कार दोस्तों, मैं Ghanshyam Patel, Help2Helpका Technical Author & Co-Founder हूँ. Education की बात करूँ तो मैं एक B.Com Graduate हूँ. मुझे नयी नयी Technology से सम्बंधित चीज़ों को सीखना और दूसरों को सिखाने में बड़ा मज़ा आता है.

Leave a Comment