कुश्ती पहलवान SUSHIL KUMAR का व्यक्तिगत जीवन

|

ये भी पढ़े:

नागिन की फेम NIA SHARMA का जीवन परिचय

कौन है SUSHIL KUMAR

SUSHIL KUMAR लगातार दो ओलम्पिक मुकाबलों में व्यक्तिगत पदक जीतने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी बने। आपको बता दें कि, 2008 ओलम्पिक में SUSHIL KUMAR ने 66 किग्रा फ्रीस्टाइल में कजा‍खिस्तान के लियोनिड स्प्रिडोनोव को हरा कांस्य पद जीता था। उन्होंने 56 साल के बाद 1952 के इतिहास को एक बार फिर दौहराते हुए यह पदक महाराष्ट्र के खशाबा जाधव ने जीता था। SUSHIL KUMAR सतपाल पहलवान के शिष्य हैं। लेकिन हाल ही में SUSHIL KUMAR को गिरफ्तार किया गया है। वजह आपको इस पोस्ट के आखिरी में पता चलेगी।

आज हम बात करेंगे SUSHIL KUMAR के निजी जीवन की, उनके करियर की, और उन्होंने क्या जुर्म किया है इस बात की। तो चाहिए शुरू करते है:

परिचय

SUSHIL KUMAR का पूरा नाम सुशील कुमार सोलंकी हैं इनका जन्म 26 मई, सन 1983 को साउथ वेस्ट दिल्ली में नजफगढ़ के पास बापरोला गाँव में हुआ था। SUSHIL एक जाट परिवार से संबंध रखते हैं। उनके पिता का नाम दीवान सिंह है जो कि MTNL दिल्ली में ड्राइवर हैं और माता कमला देवी हैं। SUSHIL के परिवार में ही उनके पिता और उनके कजिन संदीप रेसलर रह चुके हैं। इन दोनों को देखकर ही SUSHIL रेसलिंग करियर के प्रति जागरूक हुए। लेकिन SUSHIL के रेसलिंग में आने के बाद उनके कजिन संदीप ने यह करियर को छोड़ दिया क्योकि उनका परिवार दोनों को सपोर्ट नहीं कर सकता था।

शादी

आपको बता दें कि, SUSHIL ने अपने गुरु सतपाल की बेटी के साथ सात फेरे लिए है। उनकी पत्नी का नाम है सावी सोलंकी दोनों ने 18 फरवरी 2011 को शादी रची है। उनके सुखी दाम्पत्य जीवन से उन्हें 2014 में दो जुडवा लड़के को जन्म दिया। जिनके नाम सुवर्ण कुमार और सुवीर कुमार रखा है।

Sushil Kumar family
Sushil Kumar family

प्रैक्टिस

SUSHIL KUMAR जब 11 साल के थे तब से ही उन्होंने अपने करियर को बनाने की PRACTICE शुरू कर दी थी। इस मुकाम को हासिल करना उनके लिए आसान नहीं था लेकिन अपनी कड़ी मेहनत और लगन से उन्होंने यह मुकाम हासिल किया। सुबह एक से डेड घंटा एव रात को तीन घंटा प्रैक्टिस में व्यतीत करते थे। वैसे तो SUSHIL बॉस्केटबॉल और फुटबॉल के बहुत अच्छे खिलाडी है लेकिन कई बार वे हैंडबॉल और वॉलिबॉल भी खेलते है। SUSHIL की स्पीड, कंट्रोल, और शूटिंग एक NATIONAL PLAYERS के जैसी है उनका खेल किसी खिलाडी से कम नहीं।

महाबली सतपाल नाम के व्यक्ति को अपना गुरु बनके उन्होंने जूनियर स्तरों में प्रतिस्पर्धा शुरू करदी थी। वर्ष 1998 में SUSHIL ने अपना पहला टूर्नामेंट जितके विश्व कैडेट खेलों में GOLD MEDAL जित लिया था। उसके पश्यात दो साल बाद एशियाई जूनियर कुश्ती चैम्पियनशिप में GOLD MADEL अपने नाम कर लिया। उसके साथ ही भारत के होनहार युवा कुश्ती पहलवान प्रसिद्ध होकर उभरे है। उन्होंने अलग अलग कोच के पास से बहुमूल्य महारथ हासिल की हुई है। उसमे राजकुमार बैसला गुर्जर और ज्ञान सिंह के नाम भी लिए जाते है।

SUSHIL ने छत्रसाल स्टेडियम दिल्ही के कुश्ती अकादमी/अखाड़ा में पहलवान की शिक्षा लेनी शुरू की थी। वर्ष 1998 में सुशिल ने अपना पहला टूर्नामेंट जितके विश्व कैडेट खेलों में GOLD MEDAL जीता था। जिसके बाद उन्होंने दो साल बाद एशियाई जूनियर कुश्ती चैम्पियनशिप में GOLD MEDAL अपने नाम कर लिया।

डाइट

आपको बता दें कि, SUSHIL KUMAR की DIET उनकी प्रैक्टिस के बिच या उसके पहले 150 से 200 ग्राम मक्खन खाने से शुरू होती है और अगर वातावरण गर्म होता तो वह ग्लूकोज़ लेते है। उसके साथ 200 ग्राम बादाम कहते थे। सुबह और रात को 1 लीटर दूध पीते थे। उसके अलावा फल, सलाद, मक्खन और चार रोटियां खाते थे। दिन में दो वक्त दो ग्लास फलों का जूस पिया करते थे। SUSHIL KUMAR WRESTLER DIET पर बहुत FOCUS करते थे।

अवार्ड्स

  • 2005 की साल में अर्जुन अवार्ड
  • राजीव गाँधी खेल रत्न अवार्ड एव भारत का सर्वोच्च खेल सम्मान,
  • 2011 में पद्म श्री
  • रेलवे मंत्रालय के चीफ टिकटिंग इंस्पेक्टर ने 5 मिलियन रुपये का नगद पुरस्कार
  • हरियाणा सरकार ने 5 मिलियन का नगद पुरस्कार
  • स्टील मंत्रालय ने 5 मिलियन रूपये का नगद पुरस्कार
  • आर. के. ग्लोबल ने 5 लाख का नगद पुरस्कार
  • महाराष्ट्र राज्य सरकार ने रूपये 1 मिलियन नगद पुरस्कार
  • MTNL ने 1 मिलियन का नगद पुरस्कार
  • रेलवे मंत्रालय ने 1 मिलियन का नगद पुरस्कार एव प्रमोशन
  • स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया ने 1 मिलियन का नगद पुरस्कार
  • 2012 में दिल्ली सरकार ने 1 मिलियन का नगद पुरस्कार
  • दिल्ली सरकार की ओर से रूपये 20 मिलियन का नगद पुरस्कार
  • हरियाणा सरकार की ओर से 15 मिलियन का नगद पुरस्कार
  • भारतीय रेलवे की ओर से 5 मिलियन का नगद पुरस्कार
  • हरियाणा सरकार ने व्रेस्लिंग अकैडमी के लिए जमीन दी
  • ONGC की ओर से 1 मिलियन का नगद पुरस्कार

क्यों हुए गिरफ्तार

SUSHIL KUMAR पर 5 मई को युवा पहलवान सागर धनखड़ हत्याकांड में शामिल होने का आरोप है। आपको बता दें कि, मॉडल टाउन थाना क्षेत्र के छत्रसाल स्टेडियम में फ्लैट खाली कराने को लेकर पहलवानों के दो गुट आपस में भिड़ गए थे, जिसमें पांच पहलवान गंभीर रूप से घायल हो गए थे, गंभीर रूप से घायल युवा पहलवान सागर ने उपचार के दौरान दम तोड़ दिया था। जिसके बाद से ही SUSHIL KUMAR फरार चल रहे थे यहां तक की उन्हें ऊपर 1 लाख का इनाम भी घोषित कर दिया गया था। वहीं, हाल ही में उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया है और उनपर हत्या का आरोप लगा है।

Sushil Kumar arrested
Sushil Kumar arrested

विशेष तथ्य

आशा करती हु कि, आप सभी अपने घरों में SAFE होंगे और आपको हमारी यह पोस्ट पसंद आई होगी। अगर आप हमसे कुछ भी पूछना चाहते है तो आप COMMENT के जरिए पूछ सकते है आपको जल्द ही उसका REPLY मिलेगा। ऐसी ही पोस्ट के लिए help2hindi के और पोस्ट पढ़े।

नमस्कार दोस्तों, मैं Akanksha Jain Help2Help की Biography Author हूँ. Education की बात करूँ तो मैं Mass Communication से Graduate हूँ. मुझे Biography पढ़ना और दूसरों को पढ़ाना में बड़ा मज़ा आता है.

1 thought on “कुश्ती पहलवान SUSHIL KUMAR का व्यक्तिगत जीवन”

Leave a Comment